डांसिंग और लकी स्टार रहे हैं जीतेंद्र – जन्मदिन पर विशेष

0 200

jitendra

7 अप्रैल 1942 को एक जौहरी परिवार में जन्में जीतेंद्र ने अपने सिने करियर की शुरूआत 1959 में प्रदर्शित फिल्म “नवरंग” से की जिसमें उन्हें छोटी सी भूमिका निभाने का अवसर मिला. लगभग पांच वर्ष तक जीतेंद्र फिल्म इंडस्ट्री में अभिनेता के रूप में काम पाने के लिए संघर्षरत रहे.

एक दिन निर्माता-निर्देशक वी शांताराम फिल्म देखने आए हुए थे. उन्होंने लड़कों के समूह में एक लड़के को फिल्म के बारे में लोगों से बातचीत करते हुए देखा और इतने प्रभावित हुए कि उसे अपनी फिल्म में काम करने का मौका देने का फैसला किया. उन्होंने उसे अपनी फिल्म “गीत गाया पत्थरों ने” में काम करने की पेशकश की. यह लड़का रवि कपूर था जो बाद में फिल्म इंडस्ट्री में जीतेंद्र के नाम से मशहूर हुआ.

 वर्ष 1964 में उन्हें “गीत गाया पत्थरों ने” में काम करने का अवसर मिला. इस फिल्म के बाद जीतेंद्र अपनी पहचान बनाने में कामयाब हो गए.

1967 में फिल्म फर्ज रिलीज हुई. रविकांत नगाइच निर्देशित इस फिल्म में जीतेंद्र ने डांसिग स्टार की भूमिका निभाई.  इस फिल्म के बाद जीतेंद्र को जंपिग जैक कहा जाने लगा. इस फिल्म के बाद निर्माताओं ने जीतेंद्र को एक ऐसे नायक के रूप में पेश किया जो नृत्य करने में सक्षम है. इन फिल्मों में “हमजोली” और “कारवां” जैसी सुपरहिट फिल्में शामिल हैं. इस बीच जीतेंद्र ने “जीने की राह”, “दो भाई” और “धरती कहे पुकार” जैसी फिल्मों में  अपनी  प्रतिभा का परिचय दिया.

1973 में प्रदर्शित फिल्म “जैसे को तैसा” के हिट होने के बाद वो फिल्म इंडस्ट्री में स्थापित हो गए. निर्माता-निर्देशक गुलजार ने  उन्हें लेकर “परिचय”, “खुश्बू” और “किनारा” जैसी पारिवारिक फिल्मों का निर्माण किया.

फिल्म इंडस्ट्री में  जीतेंद्र की जोड़ी रेखा के साथ खूब जमी. अस्सी के दशक में उनकी जोड़ी अभिनेत्री श्री देवी और जया प्रदा के साथ काफी पसंद की गयी.

जीतेंद्र ने चार दशक लंबे सिने करियर में 250 से भी अधिक फिल्मों में अपने दमदार अभिनय से दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया है. जीतेंद्र इन दिनों अपनी पुत्री एकता कपूर को फिल्म निर्माण में सहयोग कर रहे है

Leave a Reply