मुझे काम से बोरियत नही होती – शशि कपूर

0 197

मायापुरी अंक, 55, 1975

शशि कपूर फिल्मोद्योग के शशि कपूर से नटराज स्टूडियो में भेंट हुई। बेचारे कुछ परेशान नज़र आ रहे था। हमने पूछा क्या बात है शशि जी, परेशान परेशान किधर जा रहे हो?

राजकमल स्टूडियो जाना है वहां शूटिंग है। शशि ने कहा। कुछ लोग कहते है कि फिल्मों में डबल शिफ्ट का सिस्टम आपने आरम्भ किया है। लगता है अब आपको इससे बोरियत होने लगी है क्या यह सही है? मैंने कहा।

मुझे काम से कभी बोरियत नही होती लेकिन आने-जाने की भाग दौड़ बड़ी खलती है। यह सही है कि दिलीप साहिब राज साहिब सिंगल शिफ्ट में काम करने वालों में से है। लेकिन पुराने कलाकार साल में तीन चार फिल्में ही करते थे। इसलिए सिंगल शिफ्ट से काम चल जाता था। लेकिन इस जमाने में मेरे और धर्मेन्द्र आदि पर इतनी फिल्में लाद दी गई कि मजबूरन दो-दो शिफ्टों में काम करना पड़ा बल्कि तीन-तीन शिफ्टें भी करनी पड़ी शिफ्ट सिस्टम के लिए हम कलाकार ही नही निर्माता भी जिम्मेदार है। शशि कपूर ने कहा।

आप इतनी सारी अभिनेत्रियों के साथ काम कर रहे है। अन्य हीरो की अपेक्षा आप के बारे में रोमांटिक स्कैंडल कम ही सुनने को मिलते है और इतने जौली और रोमांटिक हीरो है। फिर भी स्कैंडल से कैसे बचें रहते है। मैंने पूछा।

मैं नही चाहता कि मुझे अपनी बीबी और बच्चों के सामने लज्जित होना पड़े दरअसल मैं ऐसी कामयाबी और शौहरत को दो कोड़ी की समझता हूं जिसके लिए अखबारों का सहारा लेना पड़े शशि ने गाड़ी मे बैठते हुए कहा।

Leave a Reply