Browsing Category

रिव्यूज

मूवी रिव्यू: सच्ची घटना से प्रेरित ‘इंडियाज मोस्ट वॉन्टेड’

रेटिंग** निर्देशक राज कुमार गुप्ता अपनी मेकिंग और फिल्मों के लिये अलग से जाने जाते हैं। इस बार उन्होंने एक सच्ची घटना को अपनी फिल्म ‘ इंडियाज मोसट वान्टेड’ का विशय बनाया है। कहानी  एक मोस्ट वॅान्टेड आतंकवादी की है जिसे हमारे इंटैलीजेन्स…
Read More...

मूवी रिव्यू: मोदी का जीवन दर्शन ‘पीएम नरेन्द्र मोदी’

रेटिंग*** इसे इत्तफाक कहा जाये कि एक दिन पहले हमारे प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी प्रचंड तरीके से देश के सभी बड़े छोटे या महागठबंधन विपक्षी दलों को धूल चटाते हुये अपने दम पर बहुमत हासिल कर एक बार फिर पीएम की कुर्सी पर आसीन होने का दम भरते हैं…
Read More...

मूवी रिव्यू: उम्र को धत्ता बताती लव रिलेशनशिप ‘दे दे प्यार दे’

रेटिंग*** यहां सदियों से ट्रेडिशन हैं कि मर्द ओरत से दस साल बड़ा हो सकता है, कोई बात नहीं, लेकिन अगर ये फासला दुगना हो जाये तो फिर उसे बेमेल जोड़ी कहा जाता है । निर्देशक आकिव अली की फिल्म ‘ दे दे प्यार दे’ के विशय का ताना बाना कुछ ऐसी ही…
Read More...

मूवी रिव्यू: छोटा भीम के कारनामे दिखाती ‘छोटा भीम कुंग फू धमाका’ (एनिमेटिड)

रेटिंग*** इन दिनों बच्चों की छुटिट्यां कुछ प्रदेशों में हो चुकी हैं और कुछ जगह होने जा रही है। ऐसे में बच्चों को रिझाने के लिये देशी विदेशी कार्टून तथा देशी एनिमेटिड फिल्में रिलीज हो रही है। इनमें एवेंजर्स जबरदस्त सफलता प्राप्त कर रही है।…
Read More...

मूवी रिव्यू: यूथ वर्ग की पसंद पर खरी साबित होगी ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर 2’

रेटिंग*** करण जोहर की फिल्में बेशक किसी भी जॉनर की हों उनमें एक बात कॉमन होती है, वो है भव्यता। पुनीत मल्हौत्रा द्धारा निर्देषित फिल्म ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’  के स्कूल कॉलेज ही देख लीजीये, वे इतने भव्य हैं कि जिन्हें देखकर उनमें पढ़ने का मन…
Read More...

मूवी रिव्यू: अंत तक सस्पैंस बनाए रखती है ‘ब्लैंक’

रेटिंग 2.5 स्टार कहानी आतंकवाद पर बॉलीवुड में कई फिल्में बनी हैं लेकिन फिल्म 'ब्लैंक' का कॉन्सेप्ट काफी अलग और इंट्रेस्टिंग है जिसे देखने में आपको मजा आएगा। यह कहानी एक सुसाइड बॉम्बर की है जिसकी एक एक्सीडेंट के बाद याद्दाश्त चली जाती है।…
Read More...

मूवी रिव्यू:  दलित होने का दंश ‘तरपण’

रेटिंग*** इस सप्ताह रिलीज फिल्मों में उल्लेखनीय रही नीलम आर सिंह की फिल्म‘ तरपण’। फिल्म शिद्धत से एहसास करवाती है कि बेशक हम कितने ही आधुनिक और जात पात को नजरअंदाज करने वाले क्यों न बने गये हों, लेकिन आज भी देश के विभिन्न हिस्सों में…
Read More...

मूवी रिव्यू: भव्य किरदारों और माहौल से सजी ‘कलंक’

रेटिंग*** करण जोहर की फिल्में हमेशा बेहतर कहानी और म्यूजिक से लबरेज होती हैं।  अभिषेक बर्मन द्धारा निर्देशित फिल्म ‘ कलंक’  उनकी ताजा अलौकिक कृति रिलीज हुई है। छुट्टियों की वजह से फिल्म दो दिन पहले ही रिलीज कर दी गई। आजादी से पहले कहानी…
Read More...

मूवी रिव्यू: एक बुरी फिल्म ‘बेटियों की बल्ले बल्ले’

रेटिंग* हर भाषा का अपना एक स्वरूप होता है लिहाजा कुछ चीजें वहीं अच्छी लगती हैं जिस भाषा की परिधि में आती हों। गुजराती फिल्मों का अपना एक स्वरूप है,  उन्हें बनाने का ढंग है, लेकिन अगर आप उसे हिन्दी में बनाने की कोशिश करेगें तो फेल ही साबित…
Read More...

मूवी रिव्यू: जबरदस्ती का कंफ्यूजन ‘अल्बर्ट पिंटो को गुस्सा क्यों आता है’

रेटिंग** जैसा कि मैं पहले भी बता चुका हूं कि कुछ मेकर अपनी फिल्मों की कहानी में जबरदस्ती कुछ ऐसा कंफ्यूजन भर देते हैं कि दर्शक अपने दिमाग पर जौर देने के लिये मजबूर हो जाता है लेकिन ज्यादातर दर्शक खीजने लगते हैं। निर्देशक सौमित्र रनाडे की…
Read More...