अमिताभ ने अपनी फैन को कमरे से बाहर किया

0 353

मायापुरी अंक, 57, 1975

अमिताभ बच्चन ने फिल्मी जिंदगी की परेशानियों के बारे में बताया कि एक बार वह किसी फिल्म की शूटिंग के सिलसिले में बाहर गये हुए थे जब वह शूटिंग से लौटकर आए तो उन्होंने अपने कमरे में एक लड़की को आराम से उनका इंतजार करते पाया उसने बताया कि वह होटल के स्टॉफ की मदद से उनके कमरे में पहुंचने में सफल हो सकी है। उस लड़की से अमिताभ ने बड़ी शालीनता और नर्मी से बात की चूंकि वो शूटिंग से बड़े थक गए थे और चाहते थे कि आराम करें। लेकिन उस लड़की न उनके प्रति प्रेम प्रदर्शन करना शुरू कर दिया और कहा कि मैं तुम्हें पसंद करती हूं। इस वाक्य पर वो चौंके और उठकर बैठ गए। उन्होंने बड़े प्यार से उस लड़की से चले जाने को कहा और उठकर दरवाजा खोलने लगे लेकिन वह जाने को तैयार ही न हुई और लपक कर उसने दरवाजे का ताला लगा दिया। मैं हैरान रह गया। तत्काल उसने अपनी साड़ी खोल दी और मुझे धमकी देने लगी कि अगर उसकी बात नही सुनी गई तो वह शोर मचा देगी वह कुछ चिल्ला भी रही थी मैंने सोचा शायद इसे कोई दिमागी खराबी है इसलिए इसे सावधानी से हैंडल करना चाहिये। उन्होंने उसे विश्वास दिलाया कि कुछ समय पश्चात और सुझाव दिया कि चाय मंगाई जाये और फोन पर आर्डर देने लगा तो उसने सावधान किया कि कोई चालाकी न करना कुछ समय पश्चात वेटर चाय लेकर आया और उसके दरवाजा खटखटाने पर मैं उठा तो मेरे पीछे पीछे वह लड़की भी आ गई। जैसे ही मैंने दरवाजा खोला तो लड़की को अचानक गोदी में उठा कर कमरे से बाहर कर दिया और बड़े से जोर से दरवाजा बंद कर लिया। तभी मैंने रिसेप्शन को फोन पर हिदायत दी कि एक लड़की मुझे परेशान कर रही है। उसे होटल से निकाल कर बाहर कर दो इस प्रकार से अमिताभ अपनी एक सनकी फैन से छुटकारा पा सके।

उपरोक्त घटनाओं से जाहिर होता है कि फिल्मों सितारों को जिंदगी में किस-किस प्रकार की अजीबो गरीब घटनाएं प्रतिदिन घटती रहती है।

 

Leave a Reply