रंग बिरंगी कॉमेडी ‘गोलमाल अगेन’

0 852

रेटिंग***

रोहित शेट्टी की कॉमेडी फिल्म गोलमाल की एक और कड़ी ‘गोलमाल अगेन’ एक बार फिर रंग बिरंगी कॉमेडी भरा सुखद एहसास करवा जाती है। रोहित की इस फिल्म की अभी तक कड़ियां में लॉजिक के साथ कहानी भी नदारद रहती थी लेकिन इस बार कहानी भी है जो फिल्म को और ज्यादा मनोरजंक बनाती है।

कहानी उन्हीं पांच लोगों अजय देवगन, अरशद वारसी, तुषार कपूर, कुणाल खेमू तथा श्रेयस तलपड़े की है। जो एक आश्रम में पले बढ़े हैं। बाद में परिस्थियां उन्हें एक ही घर में रहने को मजबूर करती है। इनमें एक गैंग हैं अजय देवगन और श्रेयस तलपड़े का तथा दूसरे गैंग में अरशद वारसी, तुषार कपूर तथा कुणाल खेमू हैं, हमेशा की तरह आज भी इनकी आपस में जरा भी नहीं बनती। उसी दौरान उनकी मुलाकात एक लायब्रेरीयन एना से होती है जो भूतों के बीच का माध्यम है। इन पांचों को जरा भी एहसास नहीं की वे जिस घर में रह रहे हैं उसमें पहले से एक आत्मा रहती है। आप समझ सकते हैं कि इसके बाद इन्हें उस घर में किन किन दुष्वारियों का सामना करना पड़ता है। घर में बसी आत्मा से उनका किस प्रकार छुटकारा मिल पाता हैं या नहीं। ये तो फिल्म देखने पर ही पता चलेगा लेकिन उनके साथ गुजरी सारी परिस्थतियां हास्य का रंग जमाती है।

अपनी हर फिल्म की तरह इस बार भी रोहित ने फिल्म के हर फ्रेम में बेहतरीन रंग भरे हैं। इसके अलावा हर सीन ठहाके लगाने पर मजबूर करता है। दृश्य काफी लंबे हैं जो कहीं कहीं खलते हैं। फिल्म में बेशक भूत है लेकिन वो डराता नहीं बल्कि हंसाता है। इसके अलावा लोकेशन, गीत संगीत भी बेहतरीन है।

अभिनय की बात की जाये तो क्या अजय और क्या अरशद,कुणाल, तुषार और श्रेयस। हर बार की तरह इस बार भी सभी कॉमेडी में टाइमिंग के मास्टर साबित होते हैं। कास्ट में दो नये चेहरों में जहां परिणीति चोपड़ा ने बढ़िया काम किया है वहीं तब्बू तो है ही बेहतरीन अभिनेत्री। इन कलाकारों का हमेशा की तरह बढ़िया साथ दिया है मुकेश तिवारी, संजय मिश्रा तथा अश्विनी केलकर जैसे कलाकारों ने।

अंत में अगर आप कॉमेडी फिल्मों के शौकीन है तो आपका फिल्म न देखने का सवाल ही पैदा नहीं होता।

 

Comments
Loading...