Browsing Category

पन्ना लाल व्यास

‘शोले’ बस शोर ही शोर वास्तविकता कुछ और

मायापुरी अंक, 55, 1975 रमेश सिप्पी की फिल्म शोले' की प्रेस वालों ने खूब तारीफ की बड़े हंगामें के साथ फिल्म मुंबई में रिलीज़ हुई। लेकिन हंगामा सिर्फ एक हफ्ता ही रहा। कम से कम जनता में वह शोर अब नही है। इतने बड़े बड़े स्टार होते हुए भी…

पर्दे के पीछे: योगिता बाली – बनी पूरी घरवाली

मायापुरी अंक, 56, 1975 पहले रात के ग्यारह बजे शादी की जब खबर छपी तो योगिता ने झट से सब पेपर वालों को लैटर टाइप करके भेज दिए मेरा किशोर कुमार से कोई रिश्ता नही है। लैटर अभी छप भी नही पाये थे कि उसका विचार बदल गया। दोबारा शादी कर डाली…

पर्दे की पीछे: गुरूदत्त से प्रेरणा लेकर हीरो बने गुलजार

मायापुरी अंक, 56, 1975 गुलजार भी अब हीरो बन ही गये है। पहले तो वह बहुत झिझक रहे थे। लेकिन जब सबने जोर दिया तो मान गया। अब वह बासू भट्टाचार्य की फिल्म में शर्मिला टैगौर के साथ हीरो आ रहा है और यह मामूली सी बात है कि जब तक यह पिक्चर शुरू…

INTERVIEW!! रोल कुछ चलाऊ कुछ कमाऊ तो कुछ लुटाऊ  – शर्मिला टैगोर

मायापुरी अंक, 57, 1975 पिछले दिनों 'मौसम' के सेट पर शर्मिला टैगोर से मुलाकात हुई तो इन शर्मिला टैगोर में और 'आविष्कार' के सेट पर बहुत दिनों पहले मिली शर्मिला टैगोर में मुझे कोई अंतर नज़र नही आया। चेहरे पर अब तक समय और काल की रेखाएं नहीं…

INTERVIEW: एक्टर कभी फ्लॉप नही होता – सुनील दत्त

मायापुरी अंक, 58, 1975 फिल्म 'नागिन' की शूटिंग में जब सुनील दत्त से मेरी मुलाकात हुई तो उनके पीछे पूरी फौज लगी हुई थी। इनमें से कुछ उनकी फिल्मों के निर्माता थे जो डेटें लेने आए थे। कुछ चमचे थे जो खुद को दत्त साहब का चमचा हूं मैं कहलाने में…

पर्दे के पीछे: अमिताभ बच्चन शशिकपूर छोटे भाई बड़े भाई

मायापुरी अंक, 56, 1975 अमिताभ बच्चन और शशि कपूर की एक साथ दो फिल्में 'रोटी कपड़ा और मकान' और दीवार क्या हिट हुई हैं अब कई निर्माताओं ने उन्हें साथ-साथ साइन किया है और फिर हमारी इंडस्ट्री में शशि कपूर और संजीव कुमार ही ऐसे अभिनेता है जो…

पर्दे के पीछे: किरण कुमार कोई फर्क नही पड़ा

मायापुरी अंक, 57, 1975 बेचारा किरन रेखा के साथ संबंध रखने के कारण खबरों में जरूर रहा लेकिन करियर में कोई फर्क नही पड़ा हालांकि उसके सेक्रेट्री ने कई निर्माताओं को इशारा भी किया अगर किरण को लेंगे तो रेखा आ सकती है। मैं नही जानता किसी…

पर्दे के पीछे: शशि कपूर का सेक्रेट्री कहता है

मायापुरी अंक, 57, 1975 शशि कपूर का सैक्रेट्री सबको कहता फिर रहा है कि शशि ने दीवार अमिताभ बच्चन के लिए की है अमिताभ बच्चन और शशि कपूर का शुरू से ही प्रेम रहा है यह सच है कि शशि कपूर ने अमिताभ को उन दिनों में सही रास्ता दिखाया जब वह स्टार…

पर्दे के पीछे: अपर्णा सेन उम्र सिर्फ बावन साल है

मायापुरी अंक, 57, 1975 बहुत कम लोग जानते हैं कि बंगाल की प्रसिद्ध अभिनेत्री अपर्णा सेन इस समय दो हिंदी फिल्मों में काम कर रही है एक पिक्चर ऋषिकेश मुखर्जी की 'कोतवाल साहब' है जिसमें वह शत्रुघ्न सिन्हा के साथ आ रही है और दूसरी है प्रेम जी…

पर्दे के पीछे: सिम्पल कपाड़िया नखरे किस लिए?

मायापुरी अंक, 57, 1975 मेरे एक मित्र जर्नलिस्ट ने नये चेहरों पर एक लेख लिखने के सिलसिले में सिम्पल कपाड़िया को टेलीफोन किया तो सिम्पल के पिता चुन्नी भाई ने बातचीत की पूछने पर कहने लगे सिम्पल बहुत ही बिजी हैं, शूटिंग पर शूटिंग चल रही है…