एक कलाकार के रूप में मैंने कभी खुद को नही सोचा था- राजेन्द्र चावला

0 49

सोनी एंटरटेनमेंट टेलीवीजन पर आने वाला शो, ज़िन्दगी के क्रॉसरोड्स ज़िन्दगी की सच्ची कहानियों पर आधारित है, जो ज़िन्दगी के तमाम पहलुओं को समेटे हुए हैं. विचारों और ख्यालों की भावनात्मक कहानियों की मेजबानी करेंगे राम कपूर और इसका निर्माण किया है शबीना खान ने जबकि इसे लिखा है महादेव ने. यह शो अपने हर एपिसोड में एक नया ही नैरेटिव प्रस्तुत करता है और ज़िन्दगी के नायकों की ज़िन्दगी में आने वाली चुनौतियों के बारे में बताता है, जिसके बारे में सवाल जबाव करने के लिए श्रोता भी हैं. सप्ताह में प्राइमटाइम में एक ऐसे फोरमैट में धारावाहिक जिसे अब तक देखा नहीं गया है और हर कोई केवल इससे सर्वश्रेष्ठ ही पाएगा.

 ऐसी ही एक प्रेरणास्पद कहानी है मुंशी जी की कहानी, जिसमें सदाबाहर कलाकार मुंशी जी का किरदार निभाते हुए नज़र आएँगे. यह कहानी एक ऐसे इंसान की ईमानदारी को बताती है, जो किसी का बुरा नहीं करना चाहता है और जो हमेशा खुद पर भरोसा करता है. यह एक भावनात्मक कहानी है, जो न केवल दर्शकों को उनके विचार साझा करने के लिए कहेगी बल्कि वह इस फैसलों के पीछे के कारणों पर भी सवाल करती है. दर्शक उन क्यों पर सवाल करते हैं.

राजेन्द्र चावला कहते हैं “जब मेरे पास प्रोडक्शन हॉउस से यह फोन आया कि मुझे क्या भूमिका निभानी है तो मैं बहुत खुश हुआ. इस शो में मेरी भूमिका बहुत ही ईमानदार इंसान की है. मैंने अपनी भूमिका को निभाने के लिए अपने पिता को ध्यान में रखा जो मेरी प्रेरणा और आदर्श हैं. मेरी ज़िन्दगी का क्रॉसवर्ड था फिल्म और टेलीवीजन उद्योग में से किसी एक को चुनना और मजेदार बात यह है कि मैं एक व्यापारिक खानदान से हूँ और मैंने खुद को कभी एक कलाकार के रूप में नहीं सोचा था. मैं पढने के लिए दूर गया और जब मेरे परिवार वालों ने लाइफ में सेटल होने के लिए जोर डाला तो मैंने अपने पिता की मदद से एक्टिंग में आने के लिए संघर्ष किया.

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज Facebook, Twitter और Instagram पर जा सकते हैं.

 

Comments
Loading...