Browsing Category

फ्लैश बैक

INTERVIEW!! नग्न सीन करने को तैयार कोमिला विर्क

मायापुरी अंक, 55, 1975 आज दुनिया ने अपनी सहूलियत के लिए हर काम के लिए 'शॉर्ट कट' बना रखे है। फिल्मों में प्रसिद्धि पाने का शॉर्ट कट शरीर प्रदर्शन है। शर्मिला टैगोर से लेकर कोमिला विर्क तक इस फॉर्मूले पर चलती आई हैं। कोमिला विर्क ने अभी तक…
Read More...

INTERVIEW: रेखा से गई गुजरी नहीं- मौसमी चटर्जी

मायापुरी अंक, 58, 1975 नटराज स्टूडियो में मौसमी चटर्जी दिखाई पड़ गई। तो हमें ऐसा लगा कि ईद का चांद देख लिया है समय मिलते ही मैंने कहा। मौसमी जी सुना है शशि कपूर की तरह आप भी बिलिंग के मामले में परेशान करने लगी हैं मैंने कहा। नहीं तो!…
Read More...

राजेश खन्ना सुपरस्टार है मगर… शशि कपूर

स्टाइलिस्ट पर्सनेलिटी के मालिक शशि कपूर अब इस दुनिया में नही रहे, सोमवार को 79 वर्ष के उम्र में उनका निधन हो गया है वे पिछले तीन हफ्ते से काफी बिमार थे। मायापुरी परिवार शशि जी को भावभीनी श्रद्धांजिल अर्पित करता है। 1975 में मायापुरी के…
Read More...

दो हीरोइनें अफवाहों का शिकार एक आसमान पर तो दूसरी ज़मीन पर

मायापुरी अंक, 55, 1975अफवाहों का अगर किसी को सबसे अधिक लाभ हुआ है तो वह है रेखा। वह फिल्मी दुनिया में अफवाहों के साथ आई। आने के साथ ही 'किस गर्ल' का लेबल उनके साथ चिपका दिया गया। जैसे-जैसे अफवाहें गर्म होती गई, वह 'स्टार' बनती चली गई।…
Read More...

लीना चंदावरकर बनाम ‘नालायक’

मायापुरी अंक, 55, 1975लीना चंदावरकर जिसके बारे में सुना जाने लगा था कि वह सुधर गई है और अपने निर्माताओं को परेशान करने के बजाए सहयोग देने लगी है। अब पुन: अपने नखरे दिखाने लगी है। गत सप्ताह फिल्म 'नालायक' की शूटिंग के लिए एक बड़ा भारी…
Read More...

“जिंदगी एक सफर है सुहाना यहां कल क्या हो किसने जाना” स्व.जय किशन

मायापुरी अंक 53,1975 जिंदगी एक सफर है सुहाना यहां कल क्या हो किसने जाना? ‘अंदाज’ का यह मार्मिक गीत जब कभी सुनायी पड़ता है तो आंखो के सामने उस गीत को जिंदगी के सुरों में बांधने वाले संगीत-निर्देशक स्व. जयकिशन का हंसता-मुस्कुराता…
Read More...

महेश भट्ट की ‘बादशाह’

मायापुरी अंक 53,1975निर्देशक महेश भट्ट की नयी फिल्म ‘बादशाह’ का श्री गणेश इसी माह हो रहा है। इस फिल्म के निर्माता तीन हैं। सुभा, इंदौरी, दीपक पई और अविनाश कपूर, संगीत निर्देशक हैं आर.डी. बर्मन फिल्म के प्रमुख कलाकार हैं विनोद खन्ना,…
Read More...

जहां मुर्दे जी उठते है

मायापुरी अंक 52,1975मुंबई की फिल्म-नगरी एक ऐसी जगह है जहां हर असंभव काम को संभव कर दिखाया जाता है एक सीन से हीरो के हाथों बड़े-बड़े पहलवानों को पटक कर गिराया जाता है। समुद्री जहाज समुद्र में डूब जाए, हवाई जहाज क्रैश को जाए या किसी मकान…
Read More...

फालतू लोगों के साथ काम करना पसंद नही करता – राजकुमार

मायापुरी अंक 54,1975फेमस स्टूडियो में गुमनाम साया के सैट पर बड़े दिनों के बाद राज कुमार से मुलाकात हो गई। मैंने नई फिल्म की मुबारकबाद देते हुए कहा, क्या बात है आजकल लोग आपकी फिल्में देखने को तरसते रह गये है? आदमी की जिंदगी पर उसके…
Read More...

शादी के संबंध में किशोर कुमार मेरे पसंदीदा हीरो नहीं रहे हैं! – योगिता बाली

मायापुरी अंक 53,1975आज अपने बारे में नित नई अफवाहें फैलाना फिल्म स्टारों की एक हॉबी बन कर रह गयी है इसीलिए जब भी कोई खबर मिलती है तो ऐसा प्रतीत होता है कि कहीं यह कोई ‘स्कैंडल’ तो नहीं है। और जब खबर किशोर कुमार से संबंधित…
Read More...