Browsing Category

रिव्यूज

पुराने अंदाज की प्रेमयात्रा ‘लवयात्री’

हिन्दी फिल्मों में लव स्टोरीज का हमेशा से क्रेज रहा है लिहाजा जब भी किसी नये कलाकार का डेब्यू करवाया जाता है तो उसके लिये एक अदद लव स्टोरी तैयार की जाती है। इस बार भी सलमान खान ने अपने बहनाई आयुष शर्मा का डेब्यू ऐसी ही लव स्टोरी फिल्म…
Read More...

मां बेटी की तकलीफों से लड़ने के जज़्बे की कहानी है ‘विलेज रॉकस्टार्स’

इस बार लेखक प्रोड्यूसर निर्देशक रीमादास की फिल्म ‘विलेज रॉकस्टार्स’ जैसी छोटी सी फिल्म बड़ी बड़ी फिल्मों को धराशाही करती हुई ऑस्कर के लिये सलेक्ट हुई है। असम के एक छोटे से गांव की गरीब विधवा मां और उसकी बेटी की कहानी जो गरीबी और उसकी दुविधा…
Read More...

वरूण-अनुष्का की बेहतरीन अदाकारी ‘सुई धागा- मेड इन इंडिया’

सोशल इशूज पर इससे पहले निर्देशक शरत कटारिया ‘टॉयलेट- एक प्रेम कहानी ’ जैसी बेहतरीन फिल्म बना चुके है । अब एक बार फिर वे ऐसे ही इशू पर फिल्म ‘ सुई धागा- मेड इंन इंडिया’ जैसी बेहतरीन फिल्म लेकर आये हैं।फिल्म की कहानी मौजी यानि वरूण धवन…
Read More...

गीला साबित हुआ ‘पटाखा’

विशाल भारद्वाज हमेशा जमीन से जुड़ी कहानीयों पर फिल्में बनाने के लिये जाने जाते हैं। इस बार भी उन्होंने राइटर चरण सिंह पथिक की शॉर्ट स्टोरी दो बहनो से प्रेरित हो फिल्म‘ पटाखा’ का निर्माण व निर्देशन किया। लेकिन इस बार वे देशीपन दिखाने के चक्कर…
Read More...

बिजली कंपनियों की मनमानी का पर्दाफाश करती ‘बत्ती गुल मीटर चालू’

खासकर नॉर्थ इंडिया में बिजली कंपनियों की लूट मार जगजाहिर है। निर्देशक श्री नारायण सिंह इससे पहले ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ जैसी शौचालयों को लेकर पब्लिक को जागृत कर चुके हैं। इसी तरह पर उन्होंने उत्तराखंड की कुछ बिजली कंपनियों की लूट पाट को…
Read More...

मंटो की जिंदगी का छोटा सा हिस्सा ‘मंटो’

फिल्मों के इतिहास को देखा जाए  ग़ालिब को नजर अंदाज करते तो किसी राइटर पर फिल्म बनाने से फिल्ममेकर हमेशा बचते रहे हैं। यह हिम्मत अभिनेत्री डायरेक्टर नंदिता दास ने अपने दौर के विवादास्पद लेकिन साफगोहीं लेखक सहाअदत हसन मंटों पर फिल्म ‘मंटों’…
Read More...

बिजली कंपनियों की मनमानी का पर्दाफाश करती ‘बत्ती गुल मीटर चालू‘

खासकर नॉर्थ इंडिया में बिजली कंपनियों की लूट मार जगजाहिर है। निर्देशक श्री नारायण सिंह इससे पहले ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ जैसी शौचालयों को लेकर पब्लिक को जागृत कर चुके हैं। इसी तर्ज पर उन्होंने उत्तराखंड की कुछ बिजली कंपनियों की लूट पाट को…
Read More...

फर्ज और इंतकाम की जंग ‘कठोर’

जब किसी का अपना उसके सामने किसी के द्धारा मार दिया जाता हैं तो उसके सामने इंतकाम उसका मुख्य मकसद बन जाता है। यहां तक बदले के सामने उसका फर्ज तक गौण होकर रह जाता है। लेखक निर्देशक करण कश्यप की फिल्म  ‘कठोर’ ऐसी ही किसी सच्ची घटना से प्रेरित…
Read More...

रियलिस्टिक डार्क फिल्म ‘लव सोनिया’

डार्क फिल्मों को लेकर कितनी ही बेहतरीन फिल्में आ चुकी हैं। अब उन्हीं में शामिल होने जा रही हैं निर्देशक तबरेज नूरानी की फिल्म ‘ लव सोनिया’। जो देह व्यापार की घिघौनी दुनियां में ले जाती हैं। जंहा दो बहनों के सदके ह्यूमन ट्रेफिकिंग की बदसूरत…
Read More...

युवावर्ग के लिये प्रेरक फिल्म है ‘मित्रों’

कई पेरेन्ट्स का अपने बच्चों की क्षमता पर विश्वास न कर उन्हें अपने मुताबिक जीने से रोकते हुये उन्हें हतोउत्साहित कर उन पर अपनी मनमानी थोपना कितना हानिकारक हो सकता है। नितिन कक्कड की फिल्म ‘मित्रों’ बहुत असरदार ढंग से बताती है। जय यानि जैकी…
Read More...