मौसम वेलेंटाइन का है…

0 486

‘‘वेलेंटाइन-डे’’ कभी पाश्चात्य सभ्यता का परिचायक था। जबसे देश ने आजादी की साँस लेना शुरू किया था, खुद को एडवांस बताने वाले लोग न सिर्फ सूट-बूट-टाई संस्कृति को प्रदर्शन देने में लगे थे, बल्कि अंग्रेजी त्योहारों की रहनुमायी भी कर रहे थे। अंग्रेज चले गए ‘‘वेलेंटाइन’’ रह गया। सिनेमा उद्योग ने भी प्यार के इस सिम्बल को हवा दी और यह जागृति-संस्कृति का एक हिस्सा बनकर आज भी हमारे बीच पल रहा हैं। देव आनंद- सुरैया, दिलीप कुमार- मधुबाला, धर्मेन्द्र- हेमा से होता हुआ वेलेंटाइन-डे सिम्बल आज रणवीर सिंह- दीपिका के साथ हमारी सिनेमायी सोच में चिपका हुआ हैं।

देश में स्वावलम्बन की हवा बह रही हैं। भगवा संस्कृति वर्चस्व के आंदोलन को कोहराम का रूप दे रहा हैं। ‘‘पद्मावती’’ (पद्मावत) का विरोध इसी सोच का रूप था। अब, अगर वेलेंटाइन-डे का विरोध हो तो कोई आश्चर्य नहीं। कभी पाश्चत्य पुरोधा वेलेंटाइन सर ने प्यार को परिभाषित किया था, जिनके नाम पर इस दिन को प्यार दिवस के रूप में मनाते है। विवादित सजायाफ्ता संत आसाराम बापू ने इस दिवस को मात-पिता दिवस के रूप में मनाने का आहवान किया था। उनके आश्रम में आज भी यह परंपरा उनकी अनुपस्थिति में भी मनाई जाती हैं। बाबा राम रहीम और हालिया भगोड़े संत दीक्षित ने वेलेंटाइन-डे को अपने आश्रमों की सौगात बना दिया था, ऐसा सुनते है।

खबर है बॉलीवुड के कई नये जोड़े (खासकर टीवी जगत से) इस साल वेलेंटाइन-डे को भरपूर लुत्फ दिवस के रूप में यादगार दिवस मनाने की प्लानिंग की हैं। उड़ती खबर है इस साल कैटरीना वापस रणबीर कपूर के पास पार्टी करने जाएंगी और लूलिया वंतूर सलमान खान के साथ वेलेंटाइन-डे मनाने विदेश से भारत आएंगी। फिलहाल आप सभी को बधाई।


➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज Facebook, Twitter और Instagram पर जा सकते हैं.

Comments
Loading...