बर्थडे स्पेशल: फिल्मों में मां से पहले देवी के रूप में जानी जाती थीं निरूपा रॉय, उससे पहले थीं ग्लैमरेस ऐक्ट्रेस

0 27

बॉलवुड फिल्मों में अगर मां की बात की जाती है तो सबसे पहले नाम आता है बॉलीवुड की जानी मानी अभिनेत्री निरूपा रॉय का। निरूपा रॉय एक ऐसी अभिनेत्री हैं जिन्हें भारतीय फिल्मों में मां का खिताब दिया गया या फिर यूं कहें कि निरूपा रॉय को बॉलीवुड की मां कहा जाता है। निरूपा रॉय ने अपने पूरी फिल्मी करियर में सबसे ज्यादा फिल्मों में मां का किरदार निभाया। आज निरूपा रॉय के जन्मदिन के खास मौके पर आइए हम आपको बताते हैं उनसे जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें…

15 साल की उम्र में शुरु किया काम

– 4 जनवरी 1931 को जन्मी निरूपा रॉय ने बहुत छोटी उम्र से ही फिल्मों में काम करना शुरु कर दिया था। उन्होंने 15 साल की उम्र से फिल्मों में लीड ऐक्ट्रेस के तौर पर काम करना शुरु कर दिया था। 1946 में उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा। लंबे समय तक फिल्मों में लीड ऐक्ट्रेस का किरदार निभाया। इसके अलावा उन्होंने कई फिल्मों में मां का किरदार निभाया।

फिल्मों में आने के बाद बदला नाम

–  निरुपा रॉय का जन्म एक गुजराती परिवार में हुआ था। बचपन में उनका नाम कोकिला किशोरचंद्र बलसारा था। फिल्म इंडस्ट्री में आने के बाद निरूपा राय ने अपना नाम बदल लिया। महज 15 साल की उम्र में कमल रॉय से उनकी शादी हो गई थी। शादी के बाद वे मुंबई आ गईं। योगेश और किरन नाम से इनके दो बच्चे हैं।

एक विज्ञापन ने बदली किस्मत

– ‘रनकदेवी’ से उन्होंने फिल्मों में आगाज किया। 1946 में उनके पति ने एक गुजराती अखबार में ऐड देखा। एक फिल्म बन रही थी जिसमें आर्टिस्ट की जरूरत थी। उन्होंने निरूपा का प्रोफाइल भेजा और वो चुन ली गईं। इसी साल उनकी पहली हिंदी फिल्म के लिए डायरेक्टर होमी वाडिया ने उनको कास्ट किया। फिल्म का नाम ‘अमर राज’ था। उनके साथ हीरो थे त्रिलोक कपूर।

16 फिल्मों में किया देवी का रोल

 

– त्रिलोक कपूर के साथ इनकी जोड़ी सबसे ज्यादा हिट रही। दोनों ने एक साथ 18 फिल्मों में काम किया। इसके अलावा अपने करियर की शुरुआत में निरुपा रॉय ने कई फिल्मों में देवी के रोल किए। फिल्म में देवी के रूप में देखकर लोग सच में उन्हें देवी समझ उनका आशीर्वाद लेने घर तक आने लगे।

250 से ज्यादा फिल्मों में किया काम

– अमिताभ बच्चन की कई सारी फिल्मों में निरुपा रॉय ने उनकी मां का रोल प्ले किया। साल 1999 में आई फिल्म लाल बादशाह में अमिताभ बच्चन और निरूपा रॉय दोनों आखिरी बार मां-बेटे के रोल में नज़र आए। निरुपा ने अपने करियर में लगभग 250 फिल्में की। उनको साल 2004 में लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया।

दहेज मांगने के जुर्म में हुईं थीं अरेस्ट

–  बता दें, कि साल 2001 में निरुपा दहेज मांगने के जुर्म में अरेस्ट हो गई थी। साथ में पति कमल रॉय और बेटा किरन रॉय भी जेल चले गए थे। बहू ऊना रॉय ने दहेज उत्पीड़न का केस कर दिया था। 13 अक्टूबर 2004 को हार्ट अटैक से मौत हो गई। उस वक्त उनकी उम्र 72 साल थी।

➡ मायापुरी की लेटेस्ट ख़बरों को इंग्लिश में पढ़ने के लिए  www.bollyy.com पर क्लिक करें.
➡ अगर आप विडियो देखना ज्यादा पसंद करते हैं तो आप हमारे यूट्यूब चैनल Mayapuri Cut पर जा सकते हैं.
➡ आप हमसे जुड़ने के लिए हमारे पेज FacebookTwitter और Instagram पर जा सकते हैं.

Leave a Reply